Pashupalan Vibhag Betul: पशुपालन विभाग की उदासीनता के चलते उपेक्षा का शिकार हो रहे गौ सेवक

source “social media”

Pashupalan Vibhag Betul: (बैतूल)। कृत्रिम गर्भाधान कार्यकर्ता मैत्री गौ सेवक कल्याण संगठन ने गौ सेवक पशुधन बीमा अभिकर्ता की समस्या का समाधान करने की मांग की है। गौरतलब है कि रात दिन गोवंश की सेवा में लगे रहने के बावजूद गौ सेवक पशुपालन विभाग की उदासीनता के चलते उपेक्षा का शिकार हो रहे हैं। इसको लेकर संगठन ने मंगलवार को कलेक्टर को ज्ञापन सौंपकर गौ सेवकों के हित में शीघ्र कार्यवाही की मांग की।

संगठन के प्रदेश महासचिव कुमान सिंह राजपूत ने बताया कि वर्ष 2021 से 2022 एवं 2023 पशुधन बीमा योजना अंतर्गत बीमा अभिकर्ता के रूप में कार्य किया गया जिसकी राशि आज दिनांक तक नहीं मिल पाई जो ब्रोकर एचआईबीएल द्वारा करवाया गया था। गौ सेवकों के हित में एवं गोवंश की उचित देखभाल के उद्देश्य से संगठन ने मांग की है कि गौ सेवक मैत्री कार्यकर्ता को पंचायत स्तर पर नियुक्ति दी जाए। साथ ही गौशालाओं में प्रशिक्षित गौ सेवक मैत्री कार्यकर्ता को संचालन के लिए प्राथमिकता दी जाए, पशुपालन विभाग द्वारा पशु संजीवनी वाहन पर भी गौ सेवक मैत्री को प्राथमिकता दी जाए।

श्री राजपूत ने बताया कि गौ सेवक ग्रामीण क्षेत्रों में निरंतर कई वर्षों से सेवा दे रहे हैं। जिसमें टीकाकरण, बधियाकरण, कृत्रिम गर्भधारण और उनका प्राथमिक उपचार का कार्य शामिल हैं। गौ सेवक, पशु मित्र तथा गौ-मैत्री प्रत्येक आपात मौसम अत्यंत गर्मी हो या बारिश हो या ठंड, यहां तक कि 2 वर्ष कोरोना काल में भी डॉक्टर के मार्गदर्शन में अपने व्यक्तिगत खर्च से किसानों व पशुपालकों के यहां सेवा दी है। कोरोना काल के दौरान बहुत से गौ सेवक भाइयों की मृत्यु हो गई उनको सरकार द्वारा कोई भी सहायता नहीं मिली। आज उनका परिवार गुजारे के लिए तरस रहा है। इसलिए कलेक्टर महोदय से मांग करते है कि हमें पंचायत स्तर पर उचित मानदेय तथा स्थाई नियुक्ति दी जाए ताकि हमें नियमित रोजगार मिल सके और हम सभी गौ सेवक जिले के ग्रामीण क्षेत्र में लगातार पशु सेवा दे सके।

Join Telegram Channel

Join WhatsApp Channel

Join WhatsApp Group

Follow us on Google News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *