Betul Drivers Strike : वाहन चालकों की हड़ताल फिर होगी शुरू, सैकड़ों लोगों ने किया विरोध प्रदर्शन

Betul Drivers Strike : वाहन चालकों की हड़ताल फिर होगी शुरू, सैकड़ों लोगों ने किया विरोध प्रदर्शनBetul Drivers Strike : (बैतूल). जिले में एक बार फिर से वाहन चालकों की हड़ताल शुरू होने वाली है. इसे लेकर गुरुवार 11 जनवरी को ड्राइवर यूनियन ने कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा है. कलेक्ट्रेट पहुंचे सैकड़ों वाहन चालकों ने गले में “काला कानून वापस लो” लिखी हुई तख्ती दिखाकर विरोध प्रदर्शन किया. मिली जानकारी के अनुसार ड्राइवरों को कोतवाली टीआई अशीष पवार द्वारा किसी भी प्रकार के प्रदर्शन नहीं करने की समझाइश दी है. ड्राइवरों ने भी उन्हें आश्वासन दिया कि फिलहाल वे किसी प्रकार का प्रदर्शन नहीं कर रहे, लेकिन जल्द ही कानून में संशोधन नहीं किया गया तो वह आंदोलन के लिए मजबूर होंगे.(Betul Drivers Strike)

ड्राइवर यूनियन के अंकित पवार, सागर धुर्वे, चेतन पाल, पप्पू सोनी, साहिल, नागेश पाटिल, मेहमूद, अजीत आर्य अंकुर, हर्ष धोटे, मुकेश साबले सहित अन्य ड्राइवरो ने बताया कि सभी ड्राइवर सरकार द्वारा बनाए गए हिट एट रन के कानून, जिसमें दस साल की सजा का प्रावधान है, इस कानून की वजह से हमें गाड़ी चलाने में डर लगने लगा है.(Betul Drivers Strike)

Join As On : join Whatsapp 1 join Telegram

Betul Drivers Strike : वाहन चालकों की हड़ताल फिर होगी शुरू, सैकड़ों लोगों ने किया विरोध प्रदर्शनइसलिए सभी ड्राइवरो ने आगामी समय में जब तक यह कानून नहीं हट जाता, तब तक स्वयं अपनी मर्जी से स्टेरिंग छोड़ो आंदोलन के तहत काम पर नहीं जाने का निर्णय लिया है. संगठन ने कहा कि यह काला कानून वापस नहीं लिया जाता है तो हम चक्काजाम या हड़ताल जैसे कदम उठाएंगे. अभी फिलहाल शांतिपूर्ण तरीके से स्टेरिंग छोड़ो आंदोलन के माध्यम से हल निकालना चाहते हैं.(Betul Drivers Strike)

Betul Drivers Strike : वाहन चालकों की हड़ताल फिर होगी शुरू, सैकड़ों लोगों ने किया विरोध प्रदर्शनकलेक्टर को सौंपे आवेदन में यूनियन ने बताया कि आवेदकगण ड्रायवर है. वाहन चलाकर अपना जीवन यापन करते है. वर्तमान में एक्सीडेंट होने पर भागने वाले चालक एवं दुर्घटना होने पर चालक के विरुद्ध कानून में संशोधन कर वाहन चालक के उपर अत्यधिक जुर्माना एवं कठोर सजा का प्रावधान किया जा रहा है. सभी चालकगण उक्त संशोधन से अत्यधिक प्रभावित होंगे. यूनियन का कहना है कि चालक गरीब मजदूर होते है, उन्हें इतना अर्थदण्ड जमा करना संभव नहीं है. इस कानून से ड्रायवरी का व्यवसाय बंद हो जाएगा एवं वाहन चालकों के सामने रोजगार का संकट उत्पन्न हो जायेगा.(Betul Drivers Strike)

Betul Drivers Strike : वाहन चालकों की हड़ताल फिर होगी शुरू, सैकड़ों लोगों ने किया विरोध प्रदर्शनज्ञापन के माध्यम से चेतावनी दी गई कि नया कानून यदि शासन द्वारा नहीं हटाया जाता है तो हम वाहन चालक स्टेरिंग छोडो आंदोलन एवं चक्का जाम करने के लिए विवश होंगे. ज्ञापन सौंपने वालों में प्रमुख रूप से मुकेश साबले, राहुल तावड़े, विवेक लोखंडे, रोहित ढोलेकर, प्रमोद माकोड़े, ओमपाल, बबलू यादव, पिंटू पाल, सचिन ठाकुर, शुभम वर्मा, कोमल तिलंते, संजू राठौर, मुफिस कुरैशी, महेश धुर्वे, राजा पवन पवार, कौशल बा, धीरज हजारे, नीतू यादव, आमिर, संदीप कनोजे, मनीष सोनी, पंकज भोजेकर, महेश पाल, संदीप कनोजे, रघु यादव, हर्ष धोटे, विजय वट्टी, कौशल चेतन वाघमारे, आशीष जायसवाल, विशाल बोरकर, वीरेंद्र पवार, सतीश ठाकरे, मनीष, जीतपाल आदि वाहन चालक शामिल थे.(Betul Drivers Strike)

TaptiDarshan अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है. आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें.

WhatsApp चैनल से जुड़ें

Join Telegram Channel

Join WhatsApp Channel

Join WhatsApp Group

Follow us on Google News