Sarni New Unit: डॉ. पंडाग्रे का मास्टर स्ट्रोक, चुनाव के पहले सीएम करेंगे 660 मेगावाट यूनिट और तवा थ्री खदान का भूमिपूजन!

Sarni New Unit: डॉ. पंडाग्रे का मास्टर स्ट्रोक, चुनाव के पहले सीएम करेंगे 660 मेगावाट यूनिट और तवा थ्री खदान का भूमिपूजन!Sarni New Unit: सारनी (सोनू सोनी)। चुनाव के पहले डॉ. योगेश पंडाग्रे मास्टर स्ट्रोक लगा रहे है। उनके इस मास्टर स्ट्रोक के बाद सारनी-पाथाखेड़ा बेल्ट में उनको तगड़ा फायदा होने की संभावना जताई जा रही है। उनके इस प्रयास से उस क्षेत्र में रोजगार की संभावनाएं बढ़ेगी। डॉ. पंडाग्रे सारनी में सीएम शिवराज सिंह को लाकर अपने राजनैतिक कद और दबदबे का भी प्रदर्शन कर रहे है। जो भी हो, लेकिन चुनाव के ठीक पहले नई यूनिट और नई खदान की सौगात चुनाव पर असर जरूर डालेगी।

बुधवार 16 अगस्त को जिला कलेक्टर अमनवीर सिंह बेस, पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ चौधरी समेत प्रशासनिक महकमे ने सीएम के दौरे को लेकर बगडोना हवाई पट्टी, शोभापुर क्लब, पाथाखेड़ा ऑफीसर्स क्लब, पाथाखेड़ा अटल बिहारी वाजपेई फुटबॉल ग्राउंड, विजय क्रीड़ांगन, सारनी रामरख्यानी स्टेडियम, मंगल भवन, एबीटाइप ऑफीसर्स क्लब का निरीक्षण किया।

रामरख्यानी स्टेडियम का निरीक्षण करते समय स्टेडियम के पास ही प्लांट और बड़ी चिमनी के चलते कलेक्टर अमनवीर सिंह बेस ने फिलहाल स्टेडियम को हेलीपैड व आम सभा हेतु यातायात व्यवस्था की समस्या के चलते अधिकारियों से मौके पर ही चर्चा के दौरान उपयुक्त नहीं समझा। इसके बाद उन्होंने कम से कम 500 लोगों की बैठक हेतु क्लब अथवा हाल के बारे में सतपुड़ा ताप विद्युत गृह के अधिकारियों से चर्चा की जिस पर अधीक्षण यंत्री एस .एन. सिंह द्वारा कंपनी के मंगल भवन के बारे में बताने पर कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक ने मंगल भवन का स्थल निरीक्षण किया।

इसे उपयुक्त मानते हुए संभावित बैठक हेतु आवश्यक व्यवस्थाएं बनाए रखने के निर्देश दिए। गौरतलब रहे कि सारनी में 660 मेगावाट सुपरक्रिटिकल यूनिट लगाए जाने को लेकर सीएम सारनी का दौरा करेंगे। संभावना व्यक्त की जा रही है कि इस दौरान सीएम 660 का भूमि पूजन भी कर सकते हैं। मगर सीएम का दौरा कब होगा यह तारीख अभी तय नहीं है। क्षेत्र में जन चर्चा का विषय बना हुआ है 24 से लेकर 26 अगस्त के बीच सीएम का दौरा हो सकता है। इसको लेकर प्रशासनिक महकमा अपनी तैयारी में जुट गया है।

Sarni New Unit: डॉ. पंडाग्रे का मास्टर स्ट्रोक, चुनाव के पहले सीएम करेंगे 660 मेगावाट यूनिट और तवा थ्री खदान का भूमिपूजन!

इसी को ध्यान में रखते हुए प्रशासनिक महकमे ने बुधवार को हर स्तर से एक्सरसाइज की है। इधर मध्यप्रदेश विद्युत मंडल का स्थानीय प्रबंधन भी मुख्यमंत्री के दौरे को लेकर तैयारी कर रहा है। जहां तक यूनिट लगाए जाने को लेकर हो रही तैयारी से लोगों में हर्ष का माहौल व्याप्त है। संभावना व्यक्त की जा रही है, यूनिट भूमिपूजन के बाद कार्य जल्द शुरू हो सकेगा।

इधर कोयला खदानों को लेकर प्रबंधन तैयारी करने में जुट गया है। कोयला खदानों के खुलने से काफी लोगों को रोजगार मिलेगा। वहीं प्लांट के स्थापना किए जाने से भी क्षेत्र की जनता को रोजगार मिलेगा। वहीं लोगों का पलायन रुकेगा। 2012 की घोषणा के 2023 में भूमिपूजन को लेकर लोगों के मन में शंका के भाव बने हुए हैं।

Join Telegram Channel

Join WhatsApp Channel

Join WhatsApp Group

Follow us on Google News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *