Betul Samachar : किसकी अनुमति से बनाया घर, नहीं मिलेगा कनेक्शन, अंधेरे में मरो; बिजली विभाग के जेई ने काट दी 20 मकानों की बिजली

Betul Samachar : किसकी अनुमति से बनाया घर, नहीं मिलेगा कनेक्शन, अंधेरे में मरो; बिजली विभाग के जेई ने काट दी 20 मकानों की बिजली▪️आमला (दिलीप पाल)

Betul Samachar : बिजली विभाग के जेई की कार्यप्रणाली से ग्रामीण परेशान है। जेई जब भी गांव में पहुंचते है, ग्रामीणों की समस्या सुनने के बजाए उन्हें धूतकारकर निकल जाते है। ग्रामीणों ने कहा कि जल्द ही जिला प्रशासन और विधायक से मिलकर जेई की कार्यप्रणाली और उन्हें व्यवहार की शिकायत की जायेगी।

दरअसल देवगांव ग्राम पंचायत में 10-20 किसानों ने खेत में मकान का निर्माण किया है। जहां बिजली कनेक्शन करवाने के लिए किसानों ने विधायक मांग की थी। विधायक ने किसानों को आश्वासन दिया था कि नये बिजली पोल लगाकर सभी को बिजली कनेक्शन दिया जायेगा। लेकिन जेई ने बिजली देने से इंकार कर दिया।

देवगांव के सरपंच पति अर्जुन पुंडे, साहेबलाल गावंडे, संतोष वागदे्र, कमलेश नर्रे ने बताया कि शुक्रवार को जेई निरीक्षण करने आए थे, जहां ग्रामीणों को उल्टी-सीधी बाते कहने लगे। जेई का कहना था कि तुम्हे किसने कहा कि खेत में मकान बनाने का, मकान गांव में ले जाओ, तब ही बिजली कनेक्शन मिलेगा, नहीं तो अंधेरे में मरो। मैं किसी को नहीं जानता हूं। खेत में घरेलू बिजली देने का नियम नहीं है। नियम होगा, तब बिजली देगे। जेई की इन बातों से ग्रामीणों में खासा आक्रोश है।

Betul Samachar :  कनेक्शन जोडऩे के बजाए काट दिये 20 दूसरे कनेक्शन

Betul Samachar : किसकी अनुमति से बनाया घर, नहीं मिलेगा कनेक्शन, अंधेरे में मरो; बिजली विभाग के जेई ने काट दी 20 मकानों की बिजलीजेई की मनमानी से ग्रामीण वैसे ही परेशान थे और शनिवार को जेई की मनमानी से ग्रामीणों का आक्रोश और भी भडक़ गया। ग्रामीण दीपचंद पुंडे, प्रेम गंगारे, राजेश गंगारे, राजू नारे, प्रेमलाल खोडक़े ने बताया कि जिस ट्रांसफार्मर से किसानों को बिजली देने की मांग की जा रही थी, उसी ट्रांसफार्मर से बिजली कनेक्शन तो नहीं जोड़े, उल्टा बिजली के 20 कनेक्शन काट दिये।

जिससे अब इन कनेक्शनधारियों को भी अंधेरे में रहना पड़ेगा। ग्रामीण सुभाष रावत, वासुदेव गंगारे, हेमराज गंगारे, गणपति गंगारे ने बताया कि ट्रांसफार्मर स्कूल के पास कम ऊंचाई पर भी लगा है। इससे बच्चे करंट की चपेट में आ सकते है। इस बात पर भी जेई ने ग्रामीणों की एक नहीं सुनी और उल्टी-सीधी बात कहकर कनेक्शन काट दिये।

व्‍हाट्सऐप से जुड़़ने के लिए क्लिक करें  : https://chat.whatsapp.com/D2TtsbYTYw5IJll4cNktdz

किसकी परमिशन से हुए सब निर्माण

गांव में पहुंचने पर जेई ने आंगनवाड़ी, स्कूल, पंचायत भवन को हटाने का फरमान तक दे दिया। ग्रामीण राजा घोगडे, मनोज वागदे्र, लखन गावंडे ने बताया कि जब गांव में जेई श्री बरेले आये थे तो ग्रामीणों से आंगनवाड़ी, स्कूल, पंचायत भवन निर्माण की अनुमति मांग रहे थे। जेई श्री बरेले का कहना था कि यह सब किसकी अनुमति से बनाया है। यहां से हटाओ, किसानों और ग्रामीणों को धमकाने के साथ-साथ जेई के इस रूबाब से ग्रामीणों का आक्रोश बढ़ गया है। ग्रामीणों का कहना है कि जेई की कार्यप्रणाली की शिकायत जिला प्रशासन और विधायक से करेगे और कड़ी कार्रवाही की मांग की जायेगी।

व्‍हाट्सऐप से जुड़़ने के लिए क्लिक करें  : https://chat.whatsapp.com/D2TtsbYTYw5IJll4cNktdz

इनका कहना है –
सरपंच ने पंचायत के सामने गणेश पंडाल लगाया है। बिजली के तार अस्त-व्यस्त थे। इसलिए उन्हें मना किया था। मैं मेंटनेंस करने गया था। नियमानुसार मैंने पंडाल साइड करने और अलग से कनेक्शन लेने के लिए कहा था। इसका पंचनामा भी बनाया है। इसी बात को लेकर विवाद करने लगे। जिसकी मेरे द्वारा थाने में शिकायत की जायेगी।

सर्जनदीप बरेले, जेई, विद्युत वितरण कंपनी ग्रामीण

—–

खेत में कनेक्शन के लिए बिजली विभाग को प्रस्ताव भेजा होगा। यह देखकर ही बता पाऊंगा। जेई द्वारा बदसलूकी की जानकारी मुझे नहीं है। किसी ने अवगत भी नहीं कराया है। मैं जानकारी लेता हूं।

डॉ. योगेश पंडाग्रे, विधायक, आमला

Join Telegram Channel

Join WhatsApp Channel

Join WhatsApp Group

Follow us on Google News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *