Betul News: शिवाजी महाराज स्मारक तोड़ने की कोशिश पर मचा बवाल, ग्रामीणों ने एसपी से की शिकायत

Betul News:(बैतूल)। जिला मुख्यालय से सटे ग्राम भडूस में छत्रपति शिवाजी स्मारक तोड़ने की कोशिश करने पर बवाल मच गया। स्मारक तोड़ने के प्रयास के चलते गांव में गंभीर स्थिति पैदा हो गई थी। बताया जा रहा है कि स्मारक तोड़ने का विरोध करने पर सरपंच सचिव द्वारा ग्रामीणों के साथ जमकर अभद्रता की गई, ग्रामीणों से मारपीट करने की भी कोशिश की गई। इस घटना के बाद ग्रामीणों में आक्रोश पनप गया है। सोमवार को इस मामले की शिकायत एसपी से की गई है। शिकायतकर्ता गीताबाई शिंदे, मीना सिम्पीकर, सविता मुदगल, दुर्गा बोटोले, देवना शिंदे, रेखाबाई बोटोले, प्रवीन बोटोले, लोकेश तायवाडे, रोहित शिंदे, गोपाल सिम्पीकर, दीपक, सूरज नीतेश सहित अन्य ग्रामीणों ने एसपी को सौंपे शिकायत आवेदन में बताया कि ग्राम भडूस में छत्रपति शिवाजी महाराज के स्मारक को महिला सरपंच एवं सचिव के द्वारा तोड़ने का प्रयास किया गया। जब ग्रामीणों ने इसका विरोध किया तो सरपंच सचिव मारपीट पर उतारू हो गए।

ज्ञापन में उल्लेख किया गया कि हिन्दू संगठनों द्वारा बनाए गए शिवाजी स्मारक को महिला सरपंच और सचिव द्वारा तोड़ने की कोशिश की जा रही थी। ग्रामीणों ने इसका विरोध किया तो सरपंच कहने लगी तुम लोगों ने मुझे वोट नहीं दिया है इसलिए तुम्हारा झंडा यहां से उखाड़ कर फेंकवा दूंगी। ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि सरपंच द्वारा ग्रामीणों को झूठे केस में फंसाने की भी धमकी दी गई। हिंदू परिषद कार्यकर्ता तिलकधारी बाबा को भी अपशब्द कहे गए।

सरपंच ने हिंदू संस्कृति का अपमान किया है, हिन्दुत्व का अपमान किया है। गांव में शांति भंग करने की कोशिश की गई इसके खिलाफ कठोर से कठोर कार्रवाई की जाए। इस मामले की शिकायत तिलकधारी बाबा ने भी एसपी से की है। उन्होंने आरोप लगाया कि सचिव श्याम पटेल, माखनपाल, चिरोंजी पंवार ने उनके साथ झुमा झटकी की। जान से मारने एवं धारा 376 में फंसाने की धमकी दी गई। उन्होंने ज्ञापन में किसी भी घटना के लिए अनावेदक गणों को जिम्मेदार ठहराया है।

Join Telegram Channel

Join WhatsApp Channel

Join WhatsApp Group

Follow us on Google News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *