Betul News Today: बिना पदोन्नति एवं क्रमोन्नति के सेवानिवृत्त हो रहे शिक्षक

Betul News Today: बिना पदोन्नति एवं क्रमोन्नति के सेवानिवृत्त हो रहे शिक्षक
Betul News Today:(बैतूल)। पदोन्नति व क्रमोन्नति की मांग को लेकर आजाद अध्यापक शिक्षक संघ रविवार को जिला मुख्यालय पर रैली निकालकर मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा। संघ के जिला अध्यक्ष विनय सिंह राठौड़ का कहना है कि शिक्षक पूरे सेवाकाल में बिना एक भी पदोन्नति के प्रतिमाह सेवानिवृत्त हो रहे हैं। विशेष रूप से पुराने शिक्षक संवर्ग के पदोन्नति मांग पूरी तरह से अवरुद्ध होने के कारण उन्हें उसी पद पर अपने से कनिष्टतम नवीन संवर्ग के लोकसेवकों के अधीन कार्य करना पड़ रहा है, जबकि विभाग में बडी संख्या में प्राचार्य, प्रधानाध्यापकों एवं शिक्षकों के पद रिक्त पड़े हुए हैं।
अधिकांश शिक्षक इन पदों की योग्यता व अनुभव भी रखते हैं। यदि इन रिक्त पदों पर योग्यतानुसार पदोन्नति पदनाम देकर इन शिक्षकों को पदस्थ किया जाता है। तो विभाग को बिना कुछ भी व्यय किए इन रिक्त पदों की पूर्ति हो सकेगी। शिक्षा में गुणवत्ता भी आएगी और हजारों शिक्षकों को सम्मान भी मिलेगा। संघ का कहना है कि हमारी मांग पूरी तरह से अनार्थिक एवं वरिष्ठ शिक्षकों के मान सम्मान व स्वाभिमान से संबंधित है।
Betul News Today: बिना पदोन्नति एवं क्रमोन्नति के सेवानिवृत्त हो रहे शिक्षक

यह है प्रमुख मांग

अध्यापक शिक्षक संवर्ग को भी पुराने शिक्षक संवर्ग की भांति अंशदाई पैशन के स्थान पर पुरानी पेंशन लागू की जाए, 12 और 24 वर्ष की सेवा अवधि पूर्ण कर चुके स्कूल शिक्षा विभाग और जनजाति कार्य विभाग में कार्यरत अध्यापक शिक्षक संवर्ग की लंबित क्रमोन्नति या समयमान वेतनमान के आदेश जारी किए जाए, अध्यापक शिक्षक संवर्ग की आपसी वरिष्ठता सूची का अंतिम प्रकाशन कर उच्च पदों के लिए पात्र अध्यापक शिक्षक संवर्ग को पदोन्नति का लाभ दिया जाए, विगत वर्षों में सेवानिवृत्त और दिवंगत अध्यापक शिक्षक के आश्रित परिवार के सदस्य को अन्य शासकीय कर्मचारियों की भांति ग्रेच्युटी का लाभ दिया जाए।
महा सितंबर 2022 में अध्यापक शिक्षक संवर्ग की लंबीत मांगो एवं समस्याओं के निराकरण के लिए हड़ताल के दौरान निलंबित हुए शिक्षकों के विभागीय दंड को समाप्त कर, हड़ताल अवधि का रोका गया वेतन भुगतान के आदेश जारी किया जाए, अतिशेष अध्यापक शिक्षक संवर्ग की रिक्त पदों पर स्वैच्छिक आधार पर पदस्थापना की जाए। विगत वर्षों में दिवंगत अध्यापक शिक्षक के आश्रित परिवार के सदस्य के लंबित अनुकंपा नियुक्ति के आदेश जारी किए जाए।
2006 और उसके बाद नियुक्त अध्यापक शिक्षक संवर्ग के छठवें वेतनमान के निर्धारण हुई वेतन विसंगति में सुधार किया जाए, अध्यापक शिक्षक संवर्ग के कोई भी विभागीय प्रशिक्षण सिर्फ कार्य दिवसों में ही रखें जाए। विनय सिंह राठौड़, अलकेश मालवीय जितेंद्र, जयपाल बारपेटे, संजय लहरपुरे, महेंद्र भारती, दिनेश वर्मा, सुरेशचंद्र नगदे, देवानंद धुर्वे, मनोज सिंगारे, करमचंद्र नरवरे, देवेंद्र साकरे, लक्ष्मीचंद लिल्लोरे सहित सैकड़ों अध्यापक उपस्थित रहे।

Join Telegram Channel

Join WhatsApp Channel

Join WhatsApp Group

Follow us on Google News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *